प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 13वें भारत-जापान वार्षिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया

Medhaj news 30 Oct 18 , 06:01:38 Governance
japan_visit_mea.jpg

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे की सोमवार को शिखर वार्ता हुई है | इसके बाद भारत और जापान ने एक हाई स्पीड रेल परियोजना और नौसेना सहयोग समेत छह समझौतों पर हस्ताक्षर किये और टू प्लस टू वार्ता करने पर सहमति जताई | शिखर वार्ता में दोनों ने भारत-प्रशांत क्षेत्र के हालात समेत विभिन्न द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर चर्चा की |

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13वें भारत-जापान वार्षिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए शनिवार को टोक्यो पहुंचे थे | इसके बाद उन्होंने जापान के प्रधानमंत्री शिन्जो आबे के साथ कई दौर की मुलाकातें की हैं | दोनों नेताओं ने सहमति जताई कि भारत और जापान को एक व्यवस्था आधारित और समावेशी वैश्विक व्यवस्था के लिए मिलकर काम करना चाहिए | उन्होंने दोनों देशों के विदेश मंत्रियों और रक्षा मंत्रियों के बीच टू प्लस टू वार्ता करने पर सहमति जताई | भारत का इस तरह का अमेरिका से समझौता है और दोनों ने पिछले महीने नई दिल्ली में 'टू प्लस टू' वार्ता का पहला दौर आयोजित किया था |

सबसे पहले मोदी के होटल माउंट फूजी पहुंचने पर आबे ने उनका स्वागत किया | मोदी ने ट्वीट किया था, ‘आबे से मिलकर काफी खुशी हुई |’ दोनों नेता बाग में साथ घूमे | मोदी ने आबे को कलात्मक दरियां और पत्थर के दो अलंकृत कटोरे और कुछ अन्य उपहार भेंट किए | रविवार को मोदी ने माउंट फूजी के पास एक खूबसूरत रिजॉर्ट में जापान के प्रधानमंत्री शिन्जो आबे के साथ अनौपचारिक बातचीत की |मोदी और आबे औद्योगिक रोबोट बनाने वाली कंपनी ‘फानुक कॉरपोरेशन’ के कारखाने भी गए | मोदी ने कहा कि दोनों देशों के बीच भागीदारी बुनियादी रूप से बदली है और अब यह एक ‘विशेष रणनीतिक एवं वैश्विक भागीदारी’ के रूप में मजबूत हुई है |दोनों नेताओं ने औद्योगिक रोबोट के काम करने के तरीकों पर कई चित्रों को देखा | अधिकारियों ने बताया कि मोटर असेंबलिंग कारखाने में दोनों नेताओं ने देखा कि कैसे एक रोबोट ने मात्र 40 सेकेंड में मोटर को असेंबल कर दिया | मोदी की यात्रा के दौरान आबे ने यामानशी में कावागुची झील के पास अपने निजी घर पर पीएम के लिए रात्रि भोज का भी आयोजन किया | भाषा के मुताबिक, यह पहला मौका है जबकि आबे ने किसी विदेशी राजनीतिक नेता को यामानशी क्षेत्र के नारुसावा गांव में अपने अवकाशकालीन आवास पर आमंत्रित किया | मोदी ने ट्वीट किया, ‘अपने घर पर गर्मजोशी से स्वागत के लिए प्रधानमंत्री शिन्जो आबे का आभार | मैं इससे काफी सम्मानित महसूस कर रहा हूं | जापान के प्रधानमंत्री ने चॉपस्टिक के जरिये जापानी तरीके से खाना भी सिखाया |’

सरदार वल्लभ भाई पटेल: दुनिया की सबसे बड़ी प्रतिमा का उद्घाटन 31 अक्टूबर को नरेंद्र मोदी जी करेंगे

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends