Headline


नये मोटर एक्ट के चालान से बचाऐगा आपका स्मार्टफोन

Medhaj News 4 Sep 19 , 06:01:39 Business & Economy
smartphone_challan_prevent.jpg

एक सितंबर से देशभर में लागू हुए (New Motor Vehicle Act) के चलते सड़क पर चलने वाहन चालकों की शामत आई हुई है। चाहे चालक दो पहिया हो या व्यावसायिक वाहन चालक ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन पर हर किसी का भारी चालान कट रहा है। एक ओर जहां गुरुग्राम में एक स्कूटी चालक का 23 हजार का चालान कटा वहीं बुधवार को एक और गाड़ी का 59 हजार का चालान कट गया है। इन सब झंझटों से बचाने के लिए आप के पास है आपका स्मार्टफोन। इस स्टोरी में हम आपको बता रहे हैं कि आप जरा सी सावधानी और डिजिलॉकर (DigiLocker) या फिर एमपरिवहन एप (M-PARIVAHAN APP) का इस्तेमाल करें तो ऐसे चालान और झंझट से मुक्ति पा सकते हैं।





स्मार्टफोन में सबसे पहले डिजिलॉकर और एमपरिवहन एप  को डाउनलोड करना होगा। इसके बाद आगे की प्रक्रिया के तहत साइनअप करने के लिए अपना मोबाइल नंबर दर्ज (Mobile Number Enter) करना होगा। इस प्रक्रिया के पूरा होते ही आपके मोबाइल फोन पर एक ओटीपी (One Time Password) आएगा। ओटीपी को एंटर करके सत्यापित (verified) करना होगा। फिर अगले चरण में लॉगिन करने के लिए अपना यूजर नेम और पासवर्ड सेट करना होगा। इसके बाद आपका डिजिलॉकर अकाउंट बन जाएगा। तय नियम के तहत आपको अपने आधार नंबर को प्रमाणित करना होगा, आधार डेटाबेस में पूर्व में दर्ज मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा। ओटीपी को एंटर करने के बाद आधार प्रमाणित करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। आपका डिजिलॉकर अकाउंट बन जाएगा। अब इसमें अपने आधार नंबर को प्रमाणित करिए।





डिजिलॉकर बनते ही आप अपनी आरसी (certificate of registration), लाइसेंस (License) और इंश्योरेंस (Esurance) की कॉपी डाउनलोड कर सकते हैं। ऐसा करने के बाद आपको यह सब चीजें अपने पास रखने के झंझट से मुक्ति मिल जाएगी। इतना ही नहीं, कहीं भी ट्रैफिक पुलिस को आप जरूरत पढ़ने पर ये सभी कागजात डिजिलॉकर की मदद से दिखा सकते हैं। इसके अलावा, अन्य स्थानों पर भी जरूरत पढ़ने पर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

परिवहन मंत्रालय पहले ही कह चुका है डिजिलॉकर और एमपरिवहन एप पर मौजूद दस्तावेज की इलेक्ट्रॉनिक कॉपी को वैध माना जाएगा। केंद्र सरकार ने राज्यों के परिवहन विभागों और ट्रैफिक पुलिस को इस संबंध में निर्देश देते हुए कहा था कि वे सत्यापन के लिए दस्तावेजों की ऑरिजिनल कॉपी न लें।



 


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends