Headline



मैं ज़िन्दगी का साथ निभाता चला गया- देव आंनद Happy Birthday

Medhaj News 26 Sep 19,20:30:35 Entertainment
dev_anand.png

देव आनंद की दिवानगी के इतने चर्चे हैं, जो आज भी हर किसी की जुबां पर हैं। आज भारतीय सिनेमा की इस महान शख्सियत का जन्मदिन है, जिनके किस्सों के बिना भारतीय सिनेमा का इतिहास भी अधूरा है। देव आनंद को लेकर सबसे चर्चित किस्सा है कि उन्हें फिल्म 'काला पानी' के बाद काले रंग का कोट पहनने से रोका गया। कहा जाता है कि वो काले रंग के कोट में बेहद हैंडसम लगते थे और उन्हें देखने के लिए लड़कियां छत से कूद जाती थीं। इसलिए काला कोट पहने से रोका गया था। देव आनंद को फिल्म 'विद्या' की शूटिंग के दौरान ही सुरैया से प्यार हुआ। कहा जाता है कि देव आनंद ने फिल्म के सेट पर तीन हजार रुपये की एक अंगूठी देकर प्रपोज किया, लेकिन सुरैया की नानी इस शादी के खिलाफ थीं। नतीजा ये हुआ कि सुरैया सारी उम्र कुंवारी रहीं।





आपको यह जानकर आश्चर्य होगा, लेकिन यह बात सच है कि उन्होंने बिग-बी को छोड़कर हर बड़े स्टार के साथ काम किया था। साथ ही आपको यह भी बताते चलें कि अमिताभ बच्चन जिस 'जंजीर' फिल्म से स्टार बने, उसके लिए पहले देव साहब को चुना गया था। देव आनंद पर कई लड़कियां फिदा थीं। उनकी दिवानगी का आलम इतना था कि उनकी फिल्म 'हरे राम हरे कृष्ण' में उनकी बहन का रोल करने के लिए कोई स्थापित अभिनेत्री तैयार नहीं थीं।





कई नई लड़कियों के स्क्रीन टेस्ट के बाद भी उन्हें मन मुताबिक चेहरा नहीं मिल रहा था। उस वक्त देव आनंद जीनत अमान से मिले और देव साहब उनसे बातचीत कर रहे थे कि जीनत ने उन्हें हैंडबैग से सिगरेट निकालकर दी। उनकी यही अदा देव साहब को भा गई और उन्होंने जीनत को अपनी फिल्म के लिए साइन कर लिया। कहा जाता है कि देव आनंद चाहते थे कि उन्हें कभी मरा हुआ नहीं दिखाया जाए और वो देश से बाहर मरना चाहते थे। हुआ भी कुछ ऐसा ही देव आनंद का लंदन में दिल का दौरा पड़ने से निधन हुआ था।


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends