Headline



रूस ने भारत के द्वारा खरीदी गई S-400 मिसाइल बनाने का काम शुरु किया

Medhaj News 19 Nov 19,00:00:52 World
triumf.png

रूस (Russia) ने भारत (India) के द्वारा खरीदी गई S-400 ट्रायम्फ एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल डिफेंस सिस्टम बनाने का काम शुरु कर दिया है | आपको बता दें कि संयुक्त अरब अमीरात (United Arab Emirates) के दुबई (Dubai) शहर में आयोजित 'दुबई एयर शो 2019' में  S-400 ट्रायम्फ एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल डिफेंस सिस्टम बनाने वाली कंपनी 'रोसटेक' के हेड ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि हम साल 2025 तक भारत को S-400 ट्रायम्फ एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल डिफेंस सिस्टम बनाकर भारत को दे देंगे | S-400 ट्रायम्फ को बनाने का काम हमारी कंपनी ने शुरु कर दिया है | इस डिफेंस सिस्टम को खरीदने के लिए भारत पहले ही एडवांस में पेमेंट कर चुका है | मैं आपको कोई सटीक आंकड़ा तो नहीं बता सकता लेकिन हां एडवांस पेमेंट हो चुकी है | 





मिसाइल बनाने का काम लगातार चल रहा है | S-400 ट्रायम्फ को अमेरिका (United States of America) के एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल डिफेंस सिस्टम 'थाड' से भी मजबूत माना जाता है | भारत रूस से पांच S-400 ट्रायम्फ खरीद रहा है | रूस से  S-400 ट्रायम्फ मिलने के बाद भारत की शक्ति कई गुना तक बढ़ जाएगी | S-400 ट्रायम्फ भारत के लिए एक अभेद्य सुरक्षा कवच की तरह काम करेगा | S-400 ट्रायम्फ बिल्कुल एक बूस्टर शॉट की तरह काम करता है | आप बस ये समझ लीजिए कि अगर भारत पर किसी भी देश से लड़ाकू विमान, ड्रोन या मिसाइल से हमला होता है तो S-400 ट्रायम्फ पलक झपकते ही उसको हवा में ही धराशाई कर देगा |  S-400 ट्रायम्फ एक एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल डिफेंस सिस्टम है |  S-400 ट्रायम्फ एक साथ तीन दिशाओं में मिसाइल दागने में सक्षम है | S-400 ट्रायम्फ करीब 400 किलोमीटर की रेंज में आने वाले सभी लड़ाकू विमानों, बैलिस्टिक मिसाइलों और ड्रोन को मार के गिरा देगा | S-400 ट्रायम्फ जमीन से हवा में मार करता है | S-400 ट्रायम्फ रूस के एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल डिफेंस सिस्टम S-300 का अपडेटेड वर्जन है |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends