Headline



लैंडर विक्रम की तरफ से कोई जवाब नहीं मिल रहा, नहीं जाग रहा विक्रम

Medhaj News 12 Sep 19,16:31:48 Science & Technology
Chandrayan_2.png

भारत का चंद्रयान-2 (chandrayaan 2) मिशन अभी खत्म नहीं हुआ है | इसरो (ISRO) के वैज्ञानिकों ने लैंडर विक्रम (lander vikram) को जिंदा करने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है | अब इस अभियान में दुनिया का सबसे बड़ा स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन नासा (NASA) भी जुट गया है | अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक लैंडर विक्रम को नासा भी मैसेज भेज रहा है | लेकिन अभी तक ये कम्युनिकेशन एकतरफा रहा है | यानी लैंडर विक्रम की तरफ से कोई जवाब नहीं मिल रहा है | नासा की जेट प्रॉपलशन लैबोरेट्री (NASA/JPL) ने लैंडर विक्रम से संपर्क साधने के लिए रेडियो फ्रीक्वेंसी भेजी है | नासा ये काम डीप स्पेस नेटवर्क (DSN) के जरिए कर रहा है |





अमेरिका के एक एस्ट्रॉनॉट स्कॉट टिले ने भी इस बात की पुष्टि की है कि नासा ने कैलिफोर्निया स्थित DSN स्टेशन से लैंडर विक्रम को रेडियो फ्रीक्वेंसी भेजी हैं | पिछले दिनों भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (ISRO) के चंद्रयान-2 मिशन की नासा ने तारीफ की थी |  नासा ने अपने ट्वीट में लिखा था | अंतरिक्ष में शोध करना मुश्किल काम है | हम चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर इसरो के चंद्रयान-2 मिशन को उतारने के प्रयास की सराहना करते हैं | चंद्रयान 2 के लैंडर से शनिवार को संपर्क टूट गया था | इसके बाद से अब तक छह दिन बीत गए हैं | लेकिन अभी तक चंद्रमा की सतह से कोई अच्छी खबर नहीं आई है | इस मिशन को पूरा करने के लिए वैज्ञानिकों के  पास सिर्फ 9 दिनों का समय और बचा है |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends