Headline



पाकिस्तान परमाणु हमले की धमकी के बाद भारत से ही मांग रहा दवाएं

Medhaj News 3 Sep 19,22:55:44 World
drug.jpg

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से आर्टिकल 370 को हटाए जाने के बाद बौखलाहट में पाकिस्तान (Pakistan) ने भारत (India) के साथ अपने व्यापार को पूरी तरह से रोक दिया था | लेकिन पाकिस्तान अपने इस स्टैंड पर ज्यादा दिनों तक कायम नहीं रह सका | उसकी सारी हेकड़ी कुछ ही दिनों में निकल गई |  जीवनरक्षक दवाओं की कमी के चलते पकिस्तान ने भारत के साथ आंशिक व्यापार को फिर से शुरू कर दिया है | खबर ये है कि पाकिस्तान की सरकार ने भारत में बनने वाली जीवनरक्षक दवाओं (Life Saving Medicines) के आयात पर अपनी अनुमति दे दी है | जियो टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत से दवाओं के आयात और निर्यात की अनुमति पाकिस्तान के वाणिज्य मंत्रालय के द्वारा सोमवार को दी गई | इसके संबंध में एक वैधानिक नियामक आदेश जारी किया गया | पाकिस्तान बड़े स्तर पर भारतीय दवाओं को अपने यहां आयात करता है | हर तरह की दवाओं के लिए वो भारत पर आश्रित है |





एक रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान ने पिछले 16 महीनों के दौरान भारत से 250 करोड़ रुपये से ज्यादा की केवल रेबीजरोधी की और जहररोधी टीकों की खरीदारी की थी | दो हफ्ते पहले ही इस संदर्भ में पाकिस्तान के अखबार डॉन में एक रिपोर्ट छपी थी | रिपोर्ट के मुताबिक भारत के साथ व्यापार खत्म करने के बाद उद्योग संगठन एम्पलायर्स फेडरेशन ऑफ पाकिस्तान (EFP) ने कहा था - भारत से कच्चा माल या तैयार उत्पाद के रूप में आयात होने वाली जीवनरक्षक दवाएं बाजार से समाप्त हो सकती हैं | इसे देखते हुए वैकल्पिक स्रोत की व्यवस्था नहीं हो जाने तक आयात में कुछ ढील दी जानी चाहिए | अब जब पाकिस्तान के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा है तो वो फिर से भारत से दवा आयात करने जा रहा है |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends