पाकिस्तान: SC ने आसिया बीबी को रिहा किया, कई जगह प्रदर्शन-आगजनी

Medhaj news 1 Nov 18,18:00:58 World
arshiya.jpg

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में ईशनिंदा के आरोप झेल रही ईसाई महिला आसिया बीबी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है| पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट ने आसिया को मृत्युदंड की सजा से मुक्त करते हुए बरी कर दिया है | सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ पाकिस्तान के अलग-अलग शहरों में विरोध प्रदर्शन हो रहा है | इस्लामाबाद और लाहौर में विरोध प्रदर्शन करने वालों ने कई गाड़ियों में आग लगा दी है |देशभर में लगातार हो रहे प्रदर्शन को देखते हुए इस्लामाबाद, कराची, लाहौर जैसे क्षेत्रों में लोगों को बाहर ना आने के निर्देश दिए गए हैं | यहां तक कि ट्रैफिक में भी बदलाव किया गया है |

कुवैत में महात्मा गांधी का प्रिय भजन सुन सुषमा स्वराज बजाने लगीं ताली

अपने पड़ोसियों के साथ विवाद के दौरान इस्लाम का अपमान करने के आरोप में 2010 में चार बच्चों की मां आसिया बीबी (47) को दोषी करार दिया गया था। उन्होंने हमेशा खुद को बेकसूर बताया हालांकि बीते आठ वर्ष में उन्होंने अपना अधिकतर समय एकांत कारावास में बिताया।

प्रधानमंत्री इमरान खान ने देश को संबोधित कर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों को चेतावनी दी। उन्होंने मुख्य न्यायाधीश के खिलाफ अपशब्दों का उपयोग करने के लिए आलोचना की। उन्होंने कहा-आज जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया जा रहा है और सुप्रीम कोर्ट के फैसले का अपमान किया जा रहा है | इससे मेरा मानना है कि जिन सिद्धांतों पर पाकिस्तान की स्थापना की गई थी | यदि उनका पालन नहीं किया जाता है तो उसका कोई भविष्य नहीं है।

इस्तांबुल में दुनिया का सबसे बड़ा और हाईटेक एयरपोर्ट बनकर तैयार

पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश साकिब निसार की अगुवाई वाली शीर्ष अदालत की तीन सदस्यीय पीठ ने बुधवार सुबह अपना फैसला सुनाया | पीठ ने इस नतीजे पर पहुंचने के करीब तीन सप्ताह बाद इस संबंध में फैसला सुनाया है | फैसला आने में हो रही देरी को देखते हुए ईशनिंदा विरोधी प्रचारकों ने प्रदर्शन की धमकी दी थी | निसार ने फैसले में कहा-उनकी दोषसिद्धि को निरस्त किया जाता है और अगर अन्य आरोपों के तहत जरूरी नहीं हो, तो उन्हें फौरन रिहा किया जाये | ये पूरा मामला 14 जून, 2009 का है जब एक दिन आसिया नूरीन अपने घर के पास फालसे के बगीचे में दूसरी महिलाओं के साथ काम करने पहुँची तो वहाँ उनका झगड़ा साथ काम करने वाली महिलाओं के साथ हुआ | आसिया ने अपनी किताब में इस घटना को सिलसिलेवार ढंग से बयां किया है |

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like