Headline


जापान के कोवे में पीएम मोदी के भाषण के बाद लगे जय श्रीराम के नारे

Medhaj News 27 Jun 19,23:58:25 World
pm_modi_osaka.png

प्रधानमंत्री मोदी ने जापान के कोवे में भारतीय मूल समुदाय को संबोधित किया | पीएम ने अप्रवासी भारतीयों के बीच भारत-जापान संबंधों, बीजेपी की दोबोरा जीत, भारत की वैश्विक संभावनाओं को लेकर अपनी बात रखी | पीएम मोदी ने कहा कि जब आप स्टेडियम में मैच देखने जाते हैं और बल्लेबाज आउट होता है तो तोड़ी देर में समझ आता है कि गेंद कहां गई, किधर से गई | लेकिन जब घर पर टीवी पर देखते हैं तो तुरंत समझ आ जाता है | इसी तरह आप लोग भी दूर से बैठकर पूरा सच देख रहे हैं | पीएम मोदी के भाषण के बाद वंदे मातरम और जय श्रीराम के नारे भी लगे | बीजेपी को प्रचंड बहुमत पर पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा - न्यू इंडिया की आशाओं और आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए मिला जनादेश पूरे विश्व के साथ भारत के संबंधों को मजबूत करेगा | सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के जिस मंत्र पर हम चल रहे हैं, वो भारत पर दुनिया के विश्वास को भी मजबूत करेगा | जापान के साथ भारत के संबंधों को लेकर पीएम ने कहा कि ये रिश्ते आज के नहीं बल्कि सदियों पुराने हैं | पीएम मोदी ने भारत और जापान के कुछ शब्दों में समानता भी बताई | उन्होंने कहा - हमारी बोलचाल के भी कुछ सूत्र हैं जो हमें जोड़ते हैं | जिसे भारत में 'ध्यान' कहा जाता है, उसे जापान में 'जेन' कहा जाता है | जिसे भारत में 'सेवा' कहा जाता है, उसे जापान में भी 'सेवा' कहा जाता है |

प्रधानमंत्री मोदी ने जापान के पीएम शिंजो आबे की भारत यात्रा को भी याद किया | उन्होंने कहा - दिल्ली के अलावा अहमदाबाद और वाराणसी प्रधानमंत्री आबे को ले जाने का सौभाग्य मुझे मिला | प्रधानमंत्री आबे मेरे संसदीय क्षेत्र और दुनिया की सबसे पुरानी सांस्कृतिक और आध्यात्मिक नगरी में से एक काशी में गंगा आरती में शामिल हुए | उनकी ये तस्वीरें भी हर भारतीय के मन में बस गई हैं | पीएम ने कहा - डिजिटल लिटरेसी आज बहुत तेजी से बढ़ रही है | डिजिटल ट्रांजेक्शन रिकॉर्ड स्तर पर हैं, इनोवेशन और इन्क्यूबेशन के लिए एक बहुत बड़ा इंफ्रास्ट्रेक्चर तैयार हो रहा है | भारत के लक्ष्य को लेकर पीएम ने कहा - भारत की 130 करोड़ जनता के जीवन को आसान और सुरक्षित बनाने के लिए सस्ती और प्रभावी स्पेस टेक्नोलॉजी हासिल करना हमारा लक्ष्य है | मुझे खुशी है कि सफलता के साथ हम आगे बढ़ पा रहे हैं | इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हम मून मिशन को आगे बढाते हुए जल्द चंद्रयान 2 भेजने वाले हैं | 2022 तक हमारा लक्ष्य गगनयान भेजने का है, जिससे हिंदुस्तान का कोई व्यक्ति वहां तिरंगा लहराए | हम अपने स्पेस स्टेशन को लेकर संभावनाएं तलाश रहे हैं | 


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends