Headline



Howdy Modi का मतलब क्या है, इतना महत्वपूर्ण क्यों है Howdy Modi प्रोग्राम

Medhaj News 21 Sep 19,16:35:04 World
howdy_modi_event.jpg

22 सितंबर को अमेरिका के ह्यूस्टन में प्रधानमंत्री मोदी का सबसे बड़ा कार्यक्रम रखा गया है | इसमें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी उनके साथ होंगे | इस प्रोग्राम में अमेरिका में रहने वाले करीब 50 हजार भारतीय हिस्सा ले रहे हैं | हाउडी मोदी अमेरिका में पोप के बाद किसी विदेशी नेता का सबसे बड़ा कार्यक्रम होगा | इस प्रोग्राम को लेकर लोगों में इतनी उत्सुकता है कि 50 हजार की दर्शकसंख्या पहले से ही बुक हो चुकी है | बताया जा रहा है कि 10 हजार की वेटिंग लिस्ट चल रही है | Howdy शब्द How do you do यानी आप कैसे हैं, का छोटा रूप है | अमेरिका के दक्षिणी राज्यों में इस शब्द को आम बोलचाल की भाषा में इस्तेमाल करते हैं | इस तरह Howdy Modi का मतलब है How do yo do Modi यानी आप कैसे हैं मोदीजी? आयोजनकर्ताओं का कहना है कि हाउडी मोदी में करीब 1 हजार वोलंटियर और टेक्सास के करीब 650 वेलकम पार्टनर प्रोग्राम को कामयाब बनाने के लिए काम करेंगे | साल 2019 का ये सबसे बड़ा कार्यक्रम होगा | अमेरिकी भारतीयों के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन टेक्सास इंडिया फोरम कर रहा है | व्हाइट हाउस ने इस प्रोग्राम में डोनाल्ड ट्रंप के भी शामिल होने की जानकारी दी है | ये अमेरिका और भारत की दोस्ती के लिहाज से ऐतिहासिक मौका होने वाला है |





ये पहला मौका होगा जब पीएम मोदी के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका में किसी एक जगह पर मौजूद इतनी बड़ी संख्या में भारतीयों को संबोधित करेंगे | ट्रंप के अलावा इस प्रोग्राम में यूएस कांग्रेस के सदस्य, गवर्नर्स का एक डेलिगेशन और कई मेयर्स भी हिस्सा लेंगे | 22 सितंबर को अमेरिका के टेक्सास राज्य में ह्यूस्टन के एनआरजी स्टेडियम में हाउडी मोदी प्रोग्राम होगा | अमेरिका के स्थानीय टाइम के मुताबिक सुबह 10 बजे कार्यक्रम की शुरुआत होगी, जो दोपहर 1 बजे तक चलेगा |  व्हाइट हाउस ने बताया है कि मोदी और ट्रंप का जॉइंट स्टेटमेंट दोनों देशों के रिश्ते मजूबत करेगा | ये वाशिंगटन और नई दिल्ली के बीच उर्जा और व्यापार के क्षेत्र में ऐतिहासिक कदम साबित होने वाला है | अमेरिका में भारतीय राजदूत हर्ष वर्धन ने कहा है कि ट्रंप के शामिल होने की वजह से ये प्रोग्राम ऐतिहासिक होगा | हाउडी मोदी प्रोग्राम अमेरिका और भारत के रिश्तों के लिहाज से महत्वपूर्ण रहने वाला है | खासकर व्यापार और उर्जा के क्षेत्र में | यहां तेल और गैस कंपनियों की भरमार है | बताया जा रहा है कि भारत में तेल खनन की संभावना को लेकर पीएम मोदी की कुछ बड़ी कंपनियों के साथ बैठक कर सकते हैं |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends