Headline


3, 5वीं और 8वीं क्लास के बच्चों को भी बोर्ड परीक्षा देनी होगी

Medhaj News 18 Jul 19,17:21:22 World
Teacher.jpg

नई शिक्षा नीति में बोर्ड परीक्षा और शिक्षा की वर्तमान नीति में बदलाव से जुड़े बहुत सी नई बातें प्रस्तावित हैं | नई शिक्षा नीति में वर्तमान प्रारूप के नकारात्मक प्रभावों पर भी बात की गई है | नई शिक्षा नीति लागू होगी तो 3, 5वीं और 8वीं क्लास के बच्चों को भी बोर्ड परीक्षा देनी होगी | क्योंकि ऐसा माना गया है कि स्कूली शिक्षा के दौरान सिर्फ 10वीं और 12वीं में दो बार बोर्ड परीक्षा से बच्चों पर दबाव होता है | इसी दवाब के चलते कोचिंग को तेजी से बढ़ावा मिला है | कोचिंग को बढ़ावा इसलिए मिला है क्योंकि क्योंकि बच्चे बोर्ड परीक्षा के लिए तनाव महसूस करते हैं | उनपर बेहतर प्रदर्शन का दबाव रहता है |





वे स्कूल और सेल्फ स्टडी से ज्यादा कोचिंग पर निर्भर हो जाते हैं | इन दो बोर्ड परीक्षाओं के दौरान बच्चे के लिए पढ़ाई के अलावा बाकी जरूरी चीजें पीछे छूट जाती हैं | वे विषयों को अच्छी तरह समझने, विश्लेषण करने और सीखने की बजाय ज्यादा नंबर लाने के दबाव में रटने लगते हैं | प्रस्तावित नई शिक्षा नीति के मुताबिक बोर्ड परीक्षाओं को आसान बनाया जाना चाहिए | ऐसे बदलाव किए जाएं जिससे बच्चे में रटने की नहीं, सीखने की क्षमता की पहचान की जा सके | नई शिक्षा नीति लागू हुई तो CBSE की ओर से 2020 की बोर्ड परीक्षा में ये बदलाव हो सकते हैं | नई शिक्षा नीति में साल में दो बार बोर्ड परीक्षा करवाने का भी प्रस्ताव है |  शिक्षक बनने के लिए क्लासरूम डेमो देना पड़ सकता है | कंप्यूटराइज्ड लर्निंग सही मानकों पर आ जाएगी तो असेसमेंट की सभी प्रक्रियाएं कंप्यूटर मोड पर शिफ्ट की जाएंगी |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends