अमेरिका और भारत के बीच ईरान से कच्चे तेल की खरीद पर जल्द हो सकता है समझौता

Medhaj news 2 Nov 18,21:02:12 World
PM_Modi_with_US_President_Reuters_Pic.jpg

भारत को ईरान से मिलने वाले कच्चे तेल (क्रूड ऑयल) पर छा रहा संकट हटता दिखाई दे रहा है। भारत बिना किसी प्रतिबंध के ईरान से तेल आयात करने के मुद्दे पर अमेरिका के साथ समझौता होने के करीब पहुंच गया है। इस समझौते की प्रक्रिया से जुड़े एक सूत्र का कहना है कि इसके लिए हालांकि भारत को पहले से तय आयात में कटौती करने और एस्क्रौ पेमेंट (निलंब भुगतान) सिस्टम अपनाने पर सहमति जतानी पड़ी है।

अधिकारी ने बताया कि ट्रम्प का मकसद ईरान की अर्थव्यवस्था धीमी करना था, लेकिन इसकी वजह से तेल की कीमतों में इजाफा मंजूर नहीं है। ऐसे में आठ देशों को तेल आयात में छूट दी जा रही है। माना जा रहा है कि अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो इस संबंध में शुक्रवार को घोषणा भी कर सकते हैं।ईरान के तेल का सबसे बड़ा खरीदार चीन भी इस वक्त शर्तों को लेकर अमेरिका से बातचीत कर रहा है। फिलहाल, अमेरिका ने तेल आयात में छूट पाने वाले आठ देशों में से पांच देशों की पहचान साफ नहीं की है।सूत्रों का कहना है कि ट्रम्प प्रशासन आठों देशों को छूट देने में भी संतुलन बनाए रखेगा, जिससे तेल बाजार में पर्याप्त सप्लाई होती रहे। साथ ही, तेल की कीमतें भी न बढ़ें।

केरल: 96 साल की महिला ने परीक्षा देकर किया टॉप, 100 में से 98 अंक मिले

अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पियो ने पहले भी कहा था, ‘‘हमें उम्मीद है कि सभी देश ईरान से तेल आयात नहीं करेंगे। ऐसा न करने वाले देशों पर प्रतिबंध लगाए जाएंगे।’’ हालांकि, उन्होंने ऐसे देशों को कुछ शर्तों के साथ छूट देने की बात भी कही थी, जिनका एनर्जी सेक्टर मिडिल ईस्ट तेल उत्पादकों पर निर्भर है। ट्रम्प प्रशासन ने यह भी स्पष्ट किया है कि आठों देशों को दी जाने वाली छूट अस्थायी होगी।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends