Headline


पाकिस्तान: फवाद हुसैन ने ट्वीट कर कहा की धोनी इंग्लैंड में क्रिकेट खेलने गए हैं, महाभारत के लिए नहीं

Medhaj News 7 Jun 19 , 06:01:39 Sports
dhoni.png

World Cup 2019 में भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच मैच के दौरान दस्ताने पर लगाया अर्द्धसैनिक बलों के चिन्ह पर अब पाकिस्तान सरकार के एक मंत्री ने भी ट्वीट किया है | इससे पहले अर्द्धसैनिक बलों का चिन्ह भले ही प्रशंसकों में लोकप्रिय हो रहा हो लेकिन ICC ने इसे नियमों के खिलाफ बताते हुए गुरूवार को BCCI से इस बैज को हटाने का अनुरोध किया है | पाकिस्तान सरकार में विज्ञान मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने इस पूरे घटनाक्रम पर ट्वीट किया है | उन्होंने लिखा कि- धोनी इंग्लैंड में क्रिकेट खेलने के लिए हैं न कि महाभारत के लिए हैं | भारतीय मीडिया में यह क्या बहस चल रही है... मीडिया का एक वर्ग  युद्ध से इतना प्रभावित है कि उन्हें सीरिया, अफगानिस्तान या रावंडा भेजा जाना चाहिए | इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विश्व कप के पहले मैच में धोनी के विकेटकीपिंग दस्तानों पर सभी की नजरें गई जब कैमरे ने इन पर फोकस किया जिस पर अर्द्धसैनिक बलों का चिन्ह बना हुआ था | धोनी ने पहले भी ये दस्ताने शायद पहने होंगे लेकिन अब विश्व कप में टीवी की नजर में आने के बाद सोशल मीडिया पर उनकी तारीफों के पुल बांधे जा रहे हैं | धोनी टेरिटोरियल आर्मी में हैं और वे भारतीय सेना की पैरा स्‍पेशल फोर्स में लेफ्टिनेंट कर्नल हैं | उनके किट बैग का रंग भी सेना की जर्सी जैसे रंग(कैमफ्लाश़) का ही है | धोनी के दस्तानों पर 'बलिदान ब्रिगेड' का चिन्ह है | सिर्फ पैरामिलिट्री कमांडो को ही यह चिन्ह धारण करने का अधिकार है | धोनी को 2011 में पैराशूट रेजिमेंट में लेफ्टिनेंट कर्नल के मानद उपाधि मिली थी धोनी ने 2015 में पैरा ब्रिगेड की ट्रेनिंग भी ली है | प्रशिक्षण के दौरान धोनी ने पांच पैराशूट जंप भी किए थे | 


    Comments

    Leave a comment


    Similar Post You May Like

    Trends