Headline


चेतेश्वर पुजारा एक बार फिर भारतीय टीम के लिया संकटमोचक बने

Medhaj News 18 Aug 19,23:02:07 Special Story
Cheteshwar.jpg

दाएं हाथ के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा एक बार फिर संकटमोचक बनकर भारतीय टीम के लिए मैदान पर उतरे। एंटीगा के कॉलेज मैदान पर वेस्टइंडीज-ए के खिलाफ शुरू हुए तीन दिवसीय अभ्यास मैच में भारतीय टीम की शुरुआत बेहद खराब रही थी, लेकिन पुजारा की नाबाद शतक और रोहित शर्मा की दमदार पारी के दम पर भारतीय टीम संभलने में कामयाब रही। एक समय भारतीय टीम ने 53 रनों के अंदर तीन विकेट गंवा दिए थे। भारतीय टीम ने पहले दिन का खेल खत्म होने तक 5 विकेट पर 297 रन बना लिए हैं। हनुमा विहारी 37 रन और रवींद्र जडेजा 1 रन बनाकर नाबाद लौटे हैं। इस अभ्यास मैच में टीम के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी। भारत की शुरुआत खराब रही और उन्होंने मयंक अग्रवाल के रूप में अपना पहला विकेट गंवा दिया। मयंक अग्रवाल को 12 रन के निजी स्कोर पर जोनाथन कार्टर ने बोल्ड कर दिया। इसके बाद 52 रनों के स्कोर पर दूसरे ओपनर केएल राहुल भी चलते बने। उन्हें 36 रनों पर किओन हार्डिग ने पवेलियन भेजा। कुछ देर बाद उप कप्तान अजिंक्य रहाणे भी मात्र एक रन पर आउट हो गए। उन्हें कार्टर ने ही पवेलियन भेजा। इसके बाद लंच तक भारतीय टीम ने कोई विकेट नहीं गंवाया।





हालांकि पुजारा ने रोहित शर्मा के साथ चौथे विकेट के लिए 132 रन जोड़े। दोनों बल्लेबाजों ने अपनी शानदार फॉर्म का अच्छे से फायदा उठाया। दोनों ने जहां चाहा वहां शॉट खेले। वेस्टइंडीज ए के गेंदबाजों की अच्छी गेंद को दोनों ने संभलकर खेला और खराब गेंद पर प्रहार करने से पीछे नहीं हटे। रोहित पूरी तरह से जम चुके थे, लेकिन इसी बीच उन्हें अकिम फ्रेजर ने पवेलियन भेज दिया। रोहित ने 115 गेंद में आठ चौके और एक छक्के की मदद से 68 रन बनाए। इसके बाद पुजारा का हनुमा ने अच्छा साथ निभाया। चायकाल के ठीक बाद पुजारा ने अपना शतक पूरा किया और रिटायर्ड हो गए। उन्होंने 187 गेंद में आठ चौके और एक छक्के की मदद से 100 रन बनाए। वेस्टइंडीज के खिलाफ आखिरी वनडे में अंगूठे में चोट लगने के कारण कप्तान कोहली बल्लेबाजी करने के लिए नहीं पहुंचे। भारतीय टीम को वेस्टइंडीज के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का अपना पहला मैच 22 अगस्त से एंटिगा में खेलना है।


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends