भारत पहली बार करेगा तालिबान से बातचीत, माॅस्को में बैठक आज

Medhaj news 9 Nov 18,19:07:41 Science & Technology
taliban.jpeg

शुक्रवार को रूस में अफगानिस्तान मुद्दे पर होने वाली बैठक में भारत भी शामिल होगा। हालांकि भारत की ओर से यह साफ कर दिया गया है कि यह उसकी हिस्सेदारी 'गैर-अधिकारिक' स्तर पर होगी। सरकार ने इसके साथ ही भारत की स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा है कि शांति के सभी प्रयासों का नेतृत्व और नियंत्रण अफगान लोगों के हाथ में होने चाहिए। रूस में हो रही इस बैठक में अफगानिस्तान में शांति और स्थायित्व के मुद्दे पर भारत चर्चा करेगा | भारत ने गुरुवार को कहा कि वह अफगानिस्तान पर रूस द्वारा आयोजित की जा रही बैठक में "गैर-आधिकारिक स्तर" पर भाग लेगा |





अफगानिस्तान में भारत के राजदूत रह चुके अमर सिन्हा और पाकिस्तान में भारत के पूर्व उच्चायुक्त टीसीए राघवन इस बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे | रूसी विदेश मंत्रालय ने पिछले सप्ताह कहा था कि अफगानिस्तान पर मास्को- प्रारूप बैठक नौ नवंबर को होगी और अफगान तालिबान के प्रतिनिधि उसमें भाग लेंगे | बैठक में भारत की भागीदारी के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि हम अवगत हैं कि रूस नौ नवंबर को मास्को में अफगानिस्तान पर एक बैठक की मेजबानी कर रहा है |





रूसी विदेश मंत्रालय के मुताबिक, रूस ने वार्ता में भाग लेने के लिए अफगानिस्तान, भारत, ईरान, चीन, पाकिस्तान, अमेरिका,कजाखस्तान, किर्गिस्तान, ताजकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान और उज्बेकिस्तान को बुलाया है।भारत ने इस बैठक में हिस्सा लेने का निर्णय राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की भारत यात्रा के दौरान हुई द्विपक्षीय वार्ता के बाद लिया।अफगानिस्तान में आर्थिक हालात सुधारने और शांति-सुरक्षा कायम करने के लिए भारत और रूस ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से भी जुड़ने की अपील की थी। दोनों देश अफगानिस्तान में संयुक्त विकास परियोजनाएं भी चला रहे हैं।



अमेरिकाः बार में गोलीबारी से 12 लोगो की मौत


    Comments

    Leave a comment


    Similar Post You May Like