ये ट्रेन बिना इंजन के शताब्दी एक्सप्रेस को देगी टक्कर

Medhaj news 25 Oct 18,21:26:50 Science & Technology
train_18a.jpg

देश की पहली बिना इंजन वाली ट्रेन के ट्रायल की शुरुआत 29 अक्तूबर से होगी। ‘ट्रेन 18’ नाम की यह ट्रेन 30 साल पुरानी शताब्दी का स्थान लेगी। यह ट्रेन ‘सेल्फ प्रपल्शन मॉड्यूल’ पर 160 किलोमीटर प्रति किलोमीटर की रफ्तार तक चल सकती है। इस ट्रेन को शहर में स्थित इंटिग्रल कोच फैक्ट्री (आईसीएफ) द्वारा 18 महीने में विकसित किया गया है। आईसीएफ के महाप्रबंधक सुधांशु मणि ने बताया कि इसकी प्रतिकृति बनाने में 100 करोड़ रुपये की लागत आई।


इसका अनावरण 29 अक्टूबर को किया जाएगा। इसके बाद तीन या चार दिन फैक्ट्री के बाहर इसका परीक्षण किया जाएगा। बाद में इसे रिसर्च डिजाइन एंड स्टैंडर्ड आर्गनाइजेशन (आरडीएसओ) को को आगे के परीक्षण के लिए सौंप दिया जायेगा। इस ट्रेन के मध्य में दो एक्जिक्यूटिव कंपार्टमेंट होंगे। प्रत्येक में 52 सीट होंगी। वहीं सामान्य कोच में 78 सीटें होंगी। शताब्दी ट्रेन को 1988 में शुरू किया गया था और इस वक्त यह देश के मेट्रो शहरों को अन्य प्रमुख नगरों से जोड़ने वाले 20 से अधिक रेलमार्ग पर संचालित हो रही है।

ये भी पढ़े - बिना इंजन वाली ट्रेन-18, 2019 में मेट्रो की तरह दोनों ओर से दौड़ेगी

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends