Headline


ली चोंग वेई ने रोते हुए संन्यास का ऐलान किया

Medhaj News 13 Jun 19,18:33:16 Movies Review
lee_chong_wei.png

बैडमिंटन प्रशंसकों के लिए गुरुवार को एक बुरी खबर आई | मलेशिया के सबसे सफल बैडमिंटन खिलाड़ी और पूर्व नंबर एक ली चोंग वेई ने अपने 19 साल के करियर के बाद आखिरकार संन्यास का ऐलान कर दिया | अब वह कभी प्रोफेशनल बैडमिंटन खेलते नजर नहीं आएंगे | ली चोंग वेई ने रोते हुए युवा और खेल मामलों के मंत्रालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में संन्यास का ऐलान किया | 36 वर्षीय ली चोंग वेई ने कहा, मैंने भारी मन से संन्यास लेने का फैसला किया है | मैं वास्तव में इस खेल को बहुत चाहता हूं लेकिन यह काफी दमखम वाला खेल है | मैं पिछले 19 वर्षों में सहयोग और समर्थन के लिये सभी मलेशियावासियों का आभार व्यक्त करता हूं | चोंग वेई ने कहा कि यह मेरे लिए मुश्किल फैसला था, लेकिन जापान में पिछले महीने डॉक्टरों से सलाह करने के बाद मेरे पास कोई और विकल्प नहीं बचा था | सिर्फ टोक्यो ओलंपिक की वजह से ही इस फैसले में थोड़ी देरी हुई | ली चोंग वेई कुल 349 हफ्तों तक शीर्ष पर रहे, इनमें से 199 हफ्ते तो वे लगातार नंबर वन रैंकिंग पर काबिज रहे | ली चोंग वेई ने अपने करियर में 69 खिताब जीते | इनमें से 46 खिताब सुपरसीरीज के थे |





हालांकि ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतने का उनका सपना अधूरा ही रह गया। हालांकि उन्होंने ओलंपिक में तीन बार रजत पदक जीते | ली चोंग वेई ने 2008 में बीजिंग ओलंपिक, 2012 में लंदन ओलंपिक और 2016 में रियो ओलंपिक में रजत पदक अपने नाम किए | इसके अलावा उन्होंने तीन वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी रजत पदक अपने नाम किए | उन्होंने 2011  लंदन, 2013 गुआंग्झू और 2015 जकार्ता वर्ल्ड चैंपियनशिप में स्वर्ण से हाथ धोना पड़ा | इन छह में से चार फाइनल में उन्हें चीन के महान बैडमिंटन खिलाड़ी लिन डान ने मात दी, जबकि दो में एक चीनी शटलर चेन लोंग ने हराया | दो बच्चों के पिता ली चोंग वेई को पिछले साल नाक के कैंसर का पता चला था जो शुरुआती चरण में था | इसके बाद उन्होंने ताइवान में उपचार कराया और कहा कि वह वापसी करने के लिये बेताब हैं। मगर अप्रैल से वह अभ्यास नहीं कर पाए | कई समयसीमा तय करने और उन्हें पूरा नहीं कर पाने के कारण अगले साल टोक्यो ओलंपिक में खेलने की उनकी उम्मीदें कमजोर हो गई थीं |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends