फिल्म मलंग सस्पेंस, ड्रामा, थ्रिलर, रोमांस और दमदार एक्शन से भरपूर

Medhaj News 7 Feb 20,16:38:45 Movies Review
malang1_.png

फिल्म 'मलंग' सस्पेंस, ड्रामा, थ्रिलर, रोमांस और दमदार एक्शन से भरपूर है | फिल्म को डायरेक्ट किया है, मोहित सूरी ने | मोहित के डायरेक्शन को ऑन प्वॉइंट रखा है कि फिल्म के चारों लीड एक्टर्स ने | फिल्म की कहानी में ये चारों एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं | फिल्म में जगह-जगह पर सस्पेंस है | भरपूर एक्शन और ड्रामा फिल्म में दिखाया गया है | फिल्म आपको पूरी तरह से बांधे रखती है और कहीं भी आप फिल्म से दूर नहीं हटते हैं |





फिल्म की कहानी को सेट किया गया है, गोवा में | कहानी गोवा में क्रिसमस की एक रात पहले से शुरू होती है | कहानी की शुरुआत में अद्वेत (आदित्य रॉय कपूर) एक-एक करके पुलिसवालों को मार रहा है | दूसरी ओर पुलिस अफसर अनजानी आगाशी (अनिल कपूर) और माइकल रॉड्रिक्स (कुणाल खेमू) को पता नहीं लग पा रहा है कि आखिर कौन है, जो एक-एक करके सभी ऑफिसर्स की जान ले रहा है, तभी कहानी फ्लैशबैक में जाती है | पांच साल पहले की कहानी में दिखता है कि अद्वेत (आदित्य रॉय कपूर) और सारा (दिशा पटानी) गोवा ट्रिप के दौरान एक-दूसरे से मिलते हैं | दोनों के मिलने के बाद ही इन्हें एक-दूसरे से प्यार भी हो जाता है | दोनों की गोवा ट्रिप के वक्त ही एक ड्रग पेडलर जेसिका (एली अवराम) से भी मिलते हैं, लेकिन कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब इन दोनों के साथ एक हादसा होता है और इसके बाद की कहानी सबको हिलाकर रख देती है | वहीं अद्वेत-दिशा के साथ हुए उस हादसे के बाद फिर से कहानी पांच साल बाद में पहुंच जाती है, जहां अद्वेत सीरियल किलर बनकर पुलिस ऑफिसर्स को मार रहा होता है | वहीं दूसरी तरफ माइकल और क्राइम ब्रांच के ऑफिसर अनजानी ढूंढ़ने में लगे हैं कि आखिर कौन पुलिसवालों के खून का प्यासा है | अब अद्वेत और सारा के साथ पांच साल पहले क्या होता है और इसमें पुलिस का क्या कनेक्शन है, और अद्वेत पुलिसवालों को क्यों मारता है, ये सब आपको फिल्म देखने के बाद ही पता चलेगा |





फिल्म की कमजोर कड़ी सबसे पहले तो इसका फर्स्ट हाफ है | फिल्म का फर्स्ट हाफ जरूरत से ज्यादा ही स्लो है | फिल्म शुरू होती है तो कहीं ना कहीं आप बोरियत महसूस करते हैं | हद से ज्यादा इंटेसिटी और फिल्म का धीमापन थोड़ा निराश करता है | फिल्म के डायलॉग्स भी कहीं-कहीं कमजोर लगते हैं | फिल्म की कहानी को और बेहतर ढंग से भी लिखा जा सकता था | वहीं फिल्म को देखते वक्त कहीं ना कहीं आपको मोहित सूरी की पिछली फिल्म में 'एक विलेन' की याद जरूर आएगी | फिल्म का म्यूजिक काफी अच्छा है | अब ऐसा इसलिए भी क्योंकि लंबे वक्त बाद ऑरिजिनल गाने सुनने को मिले हैं |  फिल्म का म्यूज़िक मिथुन, अंकित तिवारी, असीम अज़हर और वेद शर्मा ने दिया है। फिल्म के टाइटल ट्रेक के साथ-साथ फिल्म के बाकी गाने भी बेहतरीन हैं |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends