7 बातें जो बनाएंगी हैप्पी और सिखाएंगी जीने का सलीका

Medhaj news 18 Sep 18,21:19:04 Lifestyle
ara_art_be_happy.jpg

हम जीवन के किसी भी मोड़ पर हों, किसी भी अवस्था में हों, खुद को मजबूत रखने के लिए सबसे जरूरी है खुश रहना। लेकिन, हर रिश्ते को निभाने या जिम्मेदारी को उठाने में हम कई बार स्वयं की ही उपेक्षा करने लगते हैं। खुश रहना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि ऐसे में जटिल समस्याओं के सामाधान भी आसानी से मिलते हैं। 

7 प्वाइंट्स : कैसे रखें खुद को खुश

ये भी पढ़े - एक ही रात में आपके चेहरे के मुंहासे छूमंतर, जरूर आजमाएं

  • हर व्यक्ति अपने आप में अद्वितीय होता है। आप भी हैं। किसी और से अपनी तुलना किए बिना विशेष गुणों को पहचानने का प्रयास कीजिए। अपने व्यक्तित्व के प्रति कौतुहल और रुचि जगाइए। अपने आपको बिना किसी और की कसौटी पर तौले या बिना किसी पैमाने पर परखे बस स्वयं को जानने और समझने का प्रयास कीजिए।
  • हम उन बातों को महत्वपूर्ण समझने लगते हैं जो शायद हमें सच्ची खुशी न देते हों। ऐसे में जानने का प्रयास कीजिए की आपकी प्राथमिकताएं क्या हैं। अन्य रिश्तों के लिए थोड़ा लचीला और उदार होना अच्छी बात है पर यह समझने का प्रयास करते रहें कि आपके अपने जीवन को क्या अधिक अर्थपूर्ण और समृद्ध बनाता है।
  • जब दूसरा व्यक्ति कोई सफलता पाता है तो हम उसके प्रति प्रशंसा से भर जाते हैं पर अपनी सफलता को नजरअंदाज कर देते हैं। अपनी हर छोटी बड़ी सफलता को पूरे मन से स्वीकार करिए और लगातार उसका जश्न मनाते रहें। ये न सोचें कि यह कामयाबी कैसे मिली। इस प्रकार न सिर्फ आप स्वयं को खुश रखेंगे, बल्कि चुनौतियों के लिए स्वयं को प्रेरित भी कर सकेंगे।
  • एक अस्वस्थ शरीर में स्वयं से खुश रह पाना बहुत कठिन है। यदि आप अपने आपको शारीरिक और मानसिक रूप से निरोगी रखते हैं और संतुलित एवं स्वस्थ दिनचर्या जीते हैं तो आपका शरीर भी आपको धन्यवाद देता है। शरीर यदि फिट है और सुचारू है तो आप अपने प्रति अधिक संतुष्ट हो सकते हैं। आप आराम भी करें और काम भी करें।
  • अक्सर हम अपने आपको बहुत सी व्यस्तताओं में घेरते चले जाते हैं और कुछ शौक जो हमें खुशी देते हैं उन्हें अनदेखा करतें हैं। अपनी रुचियों की एक सूची बनाइए। बागवानी हो या लम्बी वॉक, पेंटिंग हो या सिंगिंग, घर सजाना हो या किसी पालतू जानवर के साथ समय बिताना, आपकी रुचियों के लिए समय निकालें।
  • कभी-कभी अपनी बनी बनाई दिनचर्या से समय निकालकर कुछ नया करना जीवन में नवीनता और ताजगी लाने में मददगार होता है। कुछ ऐसा कीजिए जो आपने पहले न किया हो या फिर रोजमर्रा के कामों को कुछ नए ढंग से करें। नई भाषाएं सीखें, नए खेल खेलें, नए लोगों से मिलें, नई भाषा सीखें, कुछ नए प्रयोग करेंं, नए लोगों से मिलें या नए विषय पढ़ें।
  • यदि अपने आपसे हमारा रिश्ता मित्रता से भरा हो तब ही हम स्वयं से खुश रह सकते हैं। जैसे हम अपने दोस्तों की गलतियों को माफ कर देते हैं, उनके प्रति सहृदय होते हैं बिलकुल उसी तरह हम अपने लिए भी सहृदय और उदार हो सकते हैं। ऐसे में कठिन से कठिन समय में भी अकेलापन और अधूरापन नहीं पाएंगे।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...

    Similar Post You May Like