Headline



भारत के लोकतंत्र में 25 जून को एक काले दिन के तौर पर याद किया जाता है, जाने क्यों

Medhaj News 25 Jun 19 , 06:01:39 India
pm.jpg

भारत के लोकतंत्र में 25 जून को एक काले दिन के तौर पर याद किया जाता है | आज ही के दिन 1975 में प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने आपातकाल का ऐलान किया था | आज देश के लोकतंत्र में लगे आपातकाल को पूरे 44 साल हो गए हैं | आपातकाल के 44 साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के नेताओं ट्विट कर रहे हैं | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक वीडियो क्लिप डालकर इमरजेंसी को याद किया | प्रधानमंत्री द्वारा ट्विटर पर शेयर किए वीडियो में संसद के भाषण की एक क्लिप को भी दिखाया गया है | वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने लिखा कि आज ही के दिन राजनीतिक हितों के लिए लोकतंत्र की हत्या कर दी गई थी | केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी इस पर ट्वीट किया | उन्होंने लिखा कि 1975 में आज ही के दिन मात्र अपने राजनीतिक हितों के लिए देश के लोकतंत्र की हत्या की गई | देशवासियों से उनके मूलभूत अधिकार छीन लिए गए, अखबारों पर ताले लगा दिए गए | केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट कर लिखा कि इस दिन को देश संस्थानों की अखंडता बनाए रखने के तौर पर याद रखे | 




    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends