Headline



जेएनयू हिंसा की दिल्ली पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके जानकारी दी

Medhaj News 10 Jan 20 , 06:01:40 India
jnu.png

जेएनयू हिंसा को शुक्रवार को दिल्ली पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके जानकारी दी | डीसीपी, जॉय टर्की ने जानकारी देते हुए बताया कि जेएनयू हिंसा को लेकर गलत जानकारी फैलाई जा रही है | चूंकि इसमें इंस्टीट्यूशन, और छात्र शामिल हैं, संवेदनशील मामला है तो उम्मीद है मीडिया सही परिप्रेक्ष्य में इसे देखेगी | टर्की ने जानकारी देते हुए बताया - जेएनयू ने निर्णय लिया था कि जनवरी 1-5 के बीच में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया जाए | ऑनलाइन पोर्टल खोला गया |  प्रोविजनल रजिस्ट्रेशन था, ऑनलाइन भरा जा सकता था | 4 संगठन है जो कि इसके विरोध में थे | अक्टूबर 28 से विरोध कर रहे थे कि पुराने मद्दों का पहले समाधान हो | ये बच्चों को रजिस्टर नहीं करने दे रहे थे औऱ जो कर भी रहे थे तो डारा धमका रहे थे जो कि जांच में सामने आया है | सर्वर के साथ जबरन छेड़छाड की गई |  स्टॉफ को धक्का देकर जबरन बाहर निकाल दिया | जेएनयू अथॉरिटी ने पुलिस को बताया | सिक्योरिटी से भी बात की तो उनको भी चोटें आई हैं | टर्की ने जानकारी देते हुए बताया - रजिस्ट्रेशन कराने आए छात्रों को डराया गया | 5 जनवरी को सर्वर रूम पूरी तरह से बंद किया गया | सर्वर रूम से छेड़छाड़ की गई, स्टॉफ से धक्का-मुक्की की गई | नकाबपोश जानते थे कि हॉस्टल के किस कमरे में हमला करना है | जेएनयू के वाई-फाई वाले सीसीटीवी काम नहीं कर रहे थे | 5 तारीख 11.30 बजे की घटना है | दोपहर 3:45 मिनट पर पेरियार हॉस्टल पर हमला किया | उसी वक्त कुछ नए ग्रुप भी बनाए गए हैं |  व्हाट्सएप, सीसीटीवी फुटेज मिल जाते तो अच्छा होता | वाईफाई डिसेबल होने की वजह से सीसीटीवी की मदद नहीं मिल पाई | जिन लोगों को आइडेंटिफाई किया है | वो वायलर वीडियो, छात्र, प्रशासन की मदद से किए गए हैं | जेएनयू टीचर एसोसिशन के लोगों ने भी पुलिस-प्रशासन की मदद की | 3 एसीपी 7 ऑफिसर हैं | रजिस्टर भी खंगाले हैं |




    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends