Headline



भारत सहित दुनिया के कई देशों में चंद्र ग्रहण का अद्भुत नजारा देखने को मिला

Medhaj News 11 Jan 20 , 06:01:40 India
chandra.jpg

साल 2020 का पहला चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse 2020) 10 जनवरी की रात में 10 बजकर 37 मिनट से शुरू हुआ और 11 जनवरी को मध्यरात्रि में 2 बजकर 42 मिनट पर खत्म हुआ | इस चंद्र ग्रहण की अवधि 4 घंटे 5 मिनट की रही | इस दौरान भारत सहित दुनिया के कई देशों में चंद्र ग्रहण  अद्भुत नजारा देखने को मिला | बता दें कि चंद्र ग्रहण की घटना तब घटित होती है जब सूर्य और चंद्रमा के बीच में पृथ्वी आ जाती है और सूर्य का प्रकाश चंद्रमा तक नहीं पहुंच पाता | कई स्पेस एजेंसियां चंद्र ग्रहण पर नजर बनाए हुए हैं | वहीं, ट्विवटर पर विदेशों से फुल मूल की फोटो आने लगी हैं | नैरोबी से एक आदमी ने ट्विटर पर फुल मून की तस्वीर शेयर की है |





हालांकि साल 2020 का पहला चंद्र ग्रहण उपच्छाया चंद्र ग्रहण है | उपच्छाया चंद्रग्रहण आंशिक और पूर्ण चंद्र ग्रहण से कमजोर होता है, इसलिए इसे स्पष्टता से देखा भी नहीं जा सकता | उपच्छाया चंद्र ग्रहण उस समय लगता है, जब पृथ्वी की परिक्रमा कर रहा चंद्रमा "पेनुम्ब्रा" (धरती की परछाई का हल्का भाग) से होकर गुजरता है | इस समय चंद्रमा पर पड़ने वाली सूर्य की रोशनी आंशिक तौर पर कटी प्रतीत होती है और ग्रहण को चंद्रमा पर पड़ने वाली धुंधली परछाई के रूप में देखा जा सकता है |





इस साल दुनिया भर के खगोल प्रेमियों को 2 सूर्य ग्रहणों और 4 चंद्र ग्रहणों समेत ग्रहण के 6 रोमांचक दृश्य दिखायेगी | हालांकि, भारत में इनमें से केवल तीन खगोलीय घटनाओं के नजर आने की उम्मीद है | इस साल 5 और 6 जून की दरम्यानी रात दूसरा उपच्छाया चंद्र ग्रहण लगेगा | यह ग्रहण भी भारत में दिखायी देगा | 21 जून को लगने वाले वलयाकार सूर्य ग्रहण को भी भारत में देखा जा सकेगा |  इसके बाद 5 जुलाई और 30 नवंबर को सिलसिलेवार तौर पर दो उपच्छाया चंद्र ग्रहण लगेंगे | हालांकि, दोनों ग्रहण भारत में नहीं देखे जा सकेंगे, क्योंकि दोनों खगोलीय घटनाएं जब होंगी उस वक्त भारत में दिन होगा | साल का छठा और आखिरी ग्रहण पूर्ण सूर्य ग्रहण के रूप में 14 दिसंबर को लगेगा | यह ग्रहण भी भारत में नहीं दिखेगा क्योंकि उस वक्त देश में रात होगी |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends