Headline



एनसीसी रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने CAA -NRC का किया समर्थन और पाकिस्तान को चेताया

Medhaj News 28 Jan 20 , 06:01:40 Governance
PM_Modi_NCC.jpg

नई दिल्ली में एनसीसी कैडेट्स को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पड़ोसी देश पाकिस्तान का बिना नाम लिए कड़ी चेतावनी दी। पीएम मोदी ने कहा कि पड़ोसी देश जानता है कि वह भारत से तीन-तीन युद्ध हार चुका है। भारतीय सेना चाहे तो उसे हफ्ते 10 दिन में हरा धूल चटा सकती है। उन्होंने यहां कांग्रेस, बीएसपी समेत विपक्षी दलों पर भी निशाना साधा। पीएम ने कहा कि पहले की सरकारों ने दशकों तक संसद में नागरिकता संशोधन कानून बिल, एनिमी प्रॉपर्टी बिल लटकाए रखे और अपनी वोट बैंक की राजनीति करते रहे।





सीएए-एनआरसी पर पीएम ने कहा, 'अफवाहें फैलाने वाले यह समझ लें मोदी अपनी प्रतिष्ठा के लिए पैदा नहीं हुआ है। मोदी के लिए देश की प्रतिष्ठा ही सबकुछ है। दशकों पुरानी समस्याओं की सुलझा रही हमारी सरकार के फैसले पर जो लोग सांप्रदायिकता का रंग चढ़ा रहे हैं, उनका असली चेहरा भी देश देख चुका है और देख रहा है। मैं फिर कहूंगा- देश देख रहा है, समझ रहा है। चुप है, लेकिन सब समझ रहा है।' आगे उन्होंने कहा पहले की सरकारें सोचती थीं कि आतंकवाद, बम धमाके यह सब कुछ लॉ ऐंड ऑर्डर की दिक्कत है। भारत मां लहूलुहान होती गई। बातें बहुत हुईं, भाषण बहुत हुए लेकिन जब हमारी सेना ऐक्शन के लिए कहती तो उन्हें मना कर दिया जाता।' पीएम मोदी ने आगे कहा, 'आज युवा सोच है, युवा मन के साथ देश आगे बढ़ रहा है, इसलिए वो सर्जिकल स्ट्राइक करता है, एयर स्ट्राइक करता है और आतंक के सरपरस्तों को उनके घर में जाकर सबक सिखाता है।





सीएए को लेकर मायावती पर निशाना

पीएम मोदी ने मायावती पर निशाना साधते हुए कहा, 'कुछ लोग खुद को दलितों का हितैषी बताते हैं। उन लोगों को पाकिस्तान में दलितों का अत्याचार दिखाई नहीं होता। ये भूल जाते हैं किजो पाकिस्तान में अत्याचारों से भागकर आएं है, उनमें से ज्यादातर दलित भाई हैं। वहां की सेना ने एक विज्ञापन छपवाया था। यह विज्ञापन सफाई कर्मचारियों की भर्ती के लिए था। उसमें क्या लिखा था, उसमें लिखा कि सफाई कर्मचारी के लिए वही अप्लाइ कर सकते हैं जो मुस्लिम नहीं है। यानी इसका सीधा मतलब है कि हमारे इन्हीं दलित भाई-बहनों के लिए ये विज्ञापन था। इसी काम के लिए हिंदुस्तान के लोगों का उपयोग हो रहा है और हम चुप बैठे रहे।'

'बोडो समझौते के लिये खुले मन से स्टेकहोल्डर से बात की'

पीएम मोदी ने आगे कहा, 'हम उन्हें ऐसे ही छोड़ देते यह हमारी कार्यसंस्कृति नहीं है। आपने देखा होगा अपने मोहाइल पर, मीडिया या अखबारों में पढ़ा होगा कि बोडो समस्या को लेकर बहुत बड़ा ऐतिहासिक समझौता हुआ है। हमने एक तरफ नॉर्थ ईस्ट के विकास के लिए अभूतपूर्व योजनाओं की शुरुआत की और दूसरी तरफ बहुत ही खुले मन और खुले दिल के साथ सभी स्टेकहोल्डर के साथ बातचीत शुरू की। बोडो समझौता आज इसी का परिणाम है।'

370 पर यह बोले पीएम मोदी

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर पीएम मोदी कहा, 'आर्टिकल 370 तो अस्थायी था, फिर पिछली सरकार ने उसे हटाने की हिम्मत क्यों नहीं दिखाई? हमें कश्मीर की फिक्र थी इसलिए हमने आर्टिकल 370 को हटा दिया। कश्मीर को आतंकवाद ने तबाह कर दिया। कश्मीरी पंडितों को बेघर कर दिया गया। क्या हम कश्मीर को ऐसे ही छोड़ देते क्या?'



 


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends