राम रहीम को नहीं मिला रहम

Medhaj News 11 Jan 19 , 06:01:39 Governance
ram_rahim_verdict.jpg

सीबीआई कोर्ट ने डेरा सच्‍चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम समेत अन्‍य आरोपियों को दोषी करार दिया है |  सजा का ऐलान 17 जनवरी को होगा | गुरमीत राम रहीम पर आरोप थे कि अक्टूबर 2002 में कुलदीप और निर्मल ने दिनदिहाड़े सिरसा में पत्रकार रामचंद्र को गोली मारी थी |  जब 2002 में मामला दर्ज किया गया था |  2003 में जांच सीबीआई को सौंप दी थी और 2006 में राम रहीम के ड्राइवर खट्टा सिंह द्वारा दिए बयानों के बाद डेरा मुखी का नाम भी शामिल किया गया और 2007 में राम रहीम सहित सभी आरोपियों के खिलाफ चलान पेश किया गया था | 24 अक्टूबर 2002 को सिरसा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति को गोलियां मार दी थीं और 21 नवंबर 2002 को दिल्ली के अपोलो अस्पताल में रामचंद्र छत्रपति की मौत हो गई थी |  डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने पहले ही साध्वी यौन शोषण मामले में 20 साल की सजा सुना रखी है |





24 अक्टूबर को छत्रपति शाम को आफिस से लौटे थे |  उस समय उनकी गली में कुछ काम चल रहा था और वह उसी को देखने के लिए घर से बाहर निकले थे |  उसी समय दो लोगों ने उन्हें आवाज देकर बुलाया और गोली मार दी |  21 नवंबर को दिल्ली के अपोलो अस्पताल में उनकी मौत हो गई थी |  इसके बाद उनके बेटे अंशुल छत्रपति ने कोर्ट में याचिका दायर कर अपने पिता की मौत की सीबीआई जांच की मांग की थी | अंशुल ने बताया की हमने एक ताकतवर दुश्मन के साथ इंसाफ के लिए लड़ाई लड़ी है और उम्मीद है कि 16 साल बाद अब हमें इंसाफ मिल जाएगा. मामले में सीबीआई की ओर से 46 गवाह कोर्ट में पेश किए गए थे |  जबकि बचाव पक्ष की ओर 21 गवाही पेश किए गए थे | 


    Comments

    Leave a comment


    Similar Post You May Like