Headline



Millennials द्वारा Ola Uber का इस्तेमाल ऑटो सेक्टर में मंदी के लिए जिम्मेदार: सीतारमण

Medhaj News 11 Sep 19 , 06:01:39 Governance
nir,alamk.jpg



मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर सरकार के कामो की प्रसंशा और ऑटो सेक्टर में चल रही मंदी के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण(Nirmala Sitharaman) ने कहा कि ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री(Automobile Industry) पर बीएस6 और लोगों(Millennials) की सोच में आए बदलाव का असर पड़ रहा है, लोग अब गाड़ी खरीदने की बजाय ओला या उबर जैसी कैब सर्विस को तरजीह दे रहे हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वाहन क्षेत्र में मंदी के कारणों में ओला और उबर जैसी कैब सर्विस को जिम्मेदार ठहराया है।



 




Finance Minister Nirmala Sitharaman: Automobile industry is now affected by BS6 and the mindsets of millennial, who now prefer to have Ola or Uber rather than committing to buying an automobile pic.twitter.com/6KEecyopH3


— ANI (@ANI) September 10, 2019


 



 



मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर मंगलवार को सीतारमण ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि दो साल पहले तक वाहन उद्योग के लिए अच्छा समय था। निश्चित रूप से उस समय वाहन क्षेत्र के उच्च वृद्धि का दौर था। सीतारमण ने कहा कि ऑटोमोबाइल क्षेत्र कई चीजों से प्रभावित है जिसमें भारत चरण-6 मानक, पंजीकरण संबंधित बातें और लोगों की सोच में बदलाव शामिल हैं।  मालूम हो कि देश में ऑटोमोबाइल सेक्टर मंदी की मार झेल रहा है। कई कंपनियां कुछ दिनों के लिए प्रॉडक्शन पर रोक लगा चुकी हैं और इस क्षेत्र से जुड़े लोगों की नौकरियां भी खतरे में हैं।





घरेलू वाहन कंपनी महिंद्रा ऐंड महिंद्रा(Mahindra & Mahindra) ने भी चालू तिमाही में अपने विभिन्न संयंत्रों में 8-14 दिन के लिए उत्पादन बंद कर दिया है। उत्पादन और मांग के बीच संतुलन बैठाने के लिए कंपनी यह कदम उठा रही है ऐसे में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऑटो सेक्टर की गिरावट के लिए लोगों(Millennials) के माइंडसेट में बदलाव और बीएस-6 मॉडल को जिम्मेदार ठहराया है। भारतीय वाहन निर्माता कंपनियों के संगठन (सियाम) ने सोमवार को अगस्त महीने के बिक्री आँकड़े जारी किए। देश में लगातार दसवें महीने अगस्त में यात्री वाहनों की बिक्री कम हुई है। इसके अनुसार, बिक्री में 1997-98 के बाद की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई है. अगस्त माह के दौरान वाहनों की कुल बिक्री पिछले साल के इसी माह की 23,82,436 की तुलना में 23.55 फीसदी घटकर 18,21,490 वाहन रह गई.घरेलू बाजार में यात्री वाहनों की बिक्री तो 31.57 फीसदी घटकर दो लाख से भी कम 1,96,524 वाहन रह गई.देश की अग्रणी यात्री कार कंपनी मारुति सुजुकी(Maruti Suzuki) की बिक्री अगस्त में 36.14 फीसदी कम रही। टाटा स्टील(Tata Steel) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक टी. वी. नरेंद्रन ने गुरुवार को कहा कि घरेलू वाहन उद्योग में मंदी का असर इस्पात क्षेत्र पर भी पड़ा है। उन्होंने कहा कि देश में इस्पात की मांग बहूत हद तक निर्माण और वाहन क्षेत्र के बढ़ने पर निर्भर करती है।


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends