Headline


गोताखोरों ने करीब एक दशक बाद टाइटैनिक जहाज को ढूंढकर इसकी कुछ तस्वीरें जारी की

Medhaj News 23 Aug 19 , 06:01:39 Governance
divers_visited_the_titanic.png

जिस टाइटैनिक (Titanic) जहाज के बारे में ये कहा गया था कि वो कभी डूबेगा नहीं, वो न सिर्फ डूब गया बल्कि उसका मलबा भी धीरे-धीरे मिट्टी बन रहा है |  वैज्ञानिकों ने तो यहां तक दावा कर दिया है कि खारे पानी की वजह से 30 साल में टाइटैनिक का मलबा पूरी तरह खत्म हो जाएगा | टाइटैनिक की तलाश में गए गोताखोरों ने करीब एक दशक बाद एक बार फिर इसे ढूंढकर इसकी कुछ तस्वीरें जारी की हैं | टाइटैनिक की ये तस्वीरें देंखकर न सिर्फ जेम्स कैमरून की फिल्म का वो बड़ा जहाज आंखों के सामने तैरने लगता है बल्कि इसकी हालत देखकर दुख भी होता है | नोवा स्कोटिया के हैलिफ़ैक्स में डलहौज़ी विश्वविद्यालय के शोधकर्ता हेनरीटेट मान ने वर्षों तक टाइटैनिक के मलबे का अध्ययन किया |





2010 में उन्होंने बैक्टीरिया की एक नई प्रजाति की खोज की - हेलोमोनस टिटानिका | यह बैक्टीरिया जहाज के मलबे से लिए गए जंग के नमूनों में पाया गया था | हेलोमोनस टाइटैनिका मलबे पर पाए जाने वाले जीवाणुओं में से है जो जहाज के लोहे को तोड़कर खा जाते हैं | इससे जहाज का लोहा खत्म हो रहा है और उसके आसपास घास उग रही है | टाइटैनिक साउथम्पटन (इंग्लैंड) से अपनी पहली यात्रा पर, 10 अप्रैल 1912 को रवाना हुआ था | टाइटैनिक का एक्सीडेंट 15 अप्रैल 1912 को हुआ था | उस वक्त दावा किया गया था कि टाइटैनिक कभी डूबेगा नहीं | लेकिन यह बर्फ से टकराकर दो हिस्सों में टूट गया था | इस घटना में करीब 1500 लोग मारे गए थे | वैसे जहाज का मलबा 34 साल पहले ही खोज लिया गया था | तब से लेकर अब तक टाइटैनिक पर फिल्में बन चुकी हैं | 1997 में बनी जेम्स कैमरून की टाइटैनिक फिल्म को ऑस्कर मिला था |





टाइटैनिक की तलाशी का अभियान इस बार कैलाडन ओशनिक के CEO और गहरे समुद्र के खोजकर्ता विक्टर वेसकोवो के नेतृत्व में चलाया गया |  एक अभियान दल ने आठ दिनों के दौरान पांच बार मलबे में गोते लगाए | यही नहीं अमेरिका के गहरे समुद्र में खोजकर्ता विक्टर वेसकोवो (Victor Vescovo) ने हाल ही में अब तक की सबसे गहरी सबमरिन डाइव का वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बनाया | विश्व में सबसे गहरी प्राकृतिक खाई प्रशांत महासागर में करीब 35,853 फीट की गहराई में पहुंचकर 4 घंटे बिताए | गोताखोरों ने पहली बार एक दशक में टाइटैनिक के मलबे का दौरा किया |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends