Headline


असम: सेवानिवृत्त पुलिसकर्मी के खिलाफ तीन अलग-अलग एफआईआर दर्ज

Medhaj News 4 Jun 19,16:18:45 Entertainment
md_sanaullah.png

असम में उस सेवानिवृत्त पुलिसकर्मी के खिलाफ तीन अलग-अलग एफआईआर दर्ज की गई है जिसने पूर्व सेना अधिकारी मोहम्मद सनाउल्लाह को ‘विदेशी’ घोषित करने वाले दस्तावेजों की पुष्टि की थी और उनका बयान दर्ज किया था | पूर्व सैन्य अधिकारी को असम में एक हिरासत केंद्र में बंद करके रखा गया था | अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि तीन लोगों ने बोको पुलिस थाने में असम सीमा पुलिस के सेवानिवृत्त सब-इंस्पेक्टर चंद्रामल दास के खिलाफ शिकायतें दर्ज कराई | इन तीन लोगों के नाम सनाउल्लाह के बयान में गवाह के तौर पर सामने आए थे | बोको पुलिस थाने के प्रभारी अधिकारी जोगेन बर्मन ने जानकारी दी कि मोहम्मद कुरान अली, सुवाहन अली और अजमल अली ने एफआईआर में आरोप लगाया कि सनाउल्लाह के मामले की जांच कर रहे दास ने उन्हें गवाह के तौर पर किसी बयान या किसी दस्तावेज पर हस्ताक्षर के लिए नहीं बुलाया था | पुलिस ने दास के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं में तीन मामले में दर्ज किए |  राष्ट्रपति पदक से सम्मानित सनाउल्लाह को कामरूप जिले के  विदेशी न्यायाधिकरण, ने ‘विदेशी’ घोषित किया था जिसके बाद उनका नाम संदेहात्मक मतदाता के रूप में सूचीबद्ध होने के बाद 2008 में एक मामला दर्ज किया गया | न्यायाधिकरण के फैसले के बाद सनाउल्लाह को गोलपाड़ा के एक हिरासत केंद्र में बंद कर दिया गया | तीनों व्यक्तियों ने अपनी शिकायतों में यह भी कहा कि सनाउल्लाह असली भारतीय नागरिक हैं और उन्हें ‘असम सीमा पुलिस ने प्रताड़ित किया जिसने उन्हें संदेहात्मक मतदाता घोषित करने के लिए साजिश रची | चंद्रमाल दास ने कहा कि जिस शख्स की उन्होंने जांच की थी वह आर्मी सूबेदार मोहम्मद समनाउल्लाह नहीं हैं | उन्होंने जिस शख्स की जांच की थी उसका भी नाम सनाउल्लाह था, संभव है कि प्रशासनिक स्तर पर रिपोर्ट्स इधर उधर हो गई हों |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends