Headline



आइडिया-वोडाफोन के लिए अपने ऑपरेशंस को भारत में चलाना और मुश्किल हो गया

Medhaj News 15 Feb 20 , 06:01:40 Business & Economy
vodafone_ll.jpg

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद टेलीकॉम कंपनी Vodafone और Idea बड़े संकट में फंस गई हैं | हर महीने हो रहे भारी घाटे के बाद अब आइडिया-वोडाफोन के लिए अपने ऑपरेशंस (Vodafone Idea may shut the shop) को भारत में चलाना और मुश्किल हो गया है |  इसीलिए कंपनी की बोर्ड बैठक में आज भारत में कंपनी के भविष्य पर फैसला हो सकता है | लाइव मिंट की रिपोर्ट के मुताबिक, डीओटी की रकम को चुकाने के लिए कंपनी के पास और क्या ऑपशंस हैं इस पर भी बैठक में फैसला होगा | आपको बता दें कि दिसंबर 2019 में वोडा-आइडिया के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला (Kumar Mangalam Birla) ने कहा था कि अगर सरकार द्वारा आर्थिक मदद मुहैया नहीं कराई जाती है तो कंपनी बंद हो जाएगी | वोडाफोन-आइडिया पर 53,000 करोड़ रुपये का एजीआर (अडजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू) बकाया है | वहीं, कंपनी को तीसरी तिमाही यानी अक्टूबर-दिसंबर के दौरान कुल 6,439 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है | यह लगातार छठी तिमाही है, जब कंपनी को नुकसान हुआ है | इस खबर के बाद कंपनी के शेयर में 20 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली है |





वीएम पोर्टफोलियो के रिसर्च हेड विवेक मित्तल का कहना है कि वोडाफोन आइडिया के पास पैसे नहीं हैं | ऐसे वो NCLT में जा सकती है, क्योंकि उसे 17 मार्च को मामले की होने वाली अगली सुनवाई से पहले बकाये का भुगतान करना है | अगर इस मामले को स्वीकार कर लेता है तो बैंकरप्टसी लॉ के तहत बकाया चुकाने पर रोक लग जाएगी और इस तरह कंपनी को भुगतान नहीं करना पड़ सकता है | एजीआर (Adjusted Gross Revenues) मामले में सुप्रीम कोर्ट ने टेलीकॉम कंपनियों को कोई भी राहत देने से इनकार किया है | अदालत ने इन कंपनियों के खिलाफ सख्त रवैया अपनाया है | 16 जनवरी को जस्टिस अरुण मिश्रा की पीठ ने दूरसंचार कंपनियों को सरकार को एडजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू (एजीआर) चुकाने के आदेश दिए थे | कोर्ट ने शुक्रवार को सरकार को 1.47 लाख करोड़ रुपये का बकाया नहीं देने को लेकर दूरसंचार कंपनियों को फटकार लगाई है और इन सभी कंपनियों के टॉप अधिकारियों को तलब कर यह बताने के लिए कहा कि बकाये को चुकाने को लेकर शीर्ष अदालत के आदेश का पालन क्यों नहीं किया गया है |





अदालत ने इन कंपनियों को फटकार लगाते हुए 14 फरवरी की खत्म होने तक 1.47 लाख करोड़ रुपये जमा करने को कहा था | कंपनियों के पास किसी उपाय की कम ही गुंजाइश बची है, लेकिन अगर सरकार इसे लॉन्ग टर्म समस्या माने तो वह नीति में बदलाव पर विचार कर सकती है | एमटीएनएल और बीएसएनएल की हालत का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि 93000 से ज्यादा कर्मचारियों ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है | सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद एयरटेल ने कहा कि वह 20 फरवरी तक 10 हजार रुपये का भुगतान कर देगा | कोर्ट ने इसके भुगतान के लिए 17 मार्च तक का समय दिया है | 1.47 लाख करोड़ में 92642 करोड़ लाइसेंस फीस है और बकाया 55054 करोड़ रुपये स्पेक्ट्रम चार्जेज हैं | एयरटेल पर 35000 हजार करोड़ रुपये का बकाया है |


    Comments

    • Medhaj News
      Updated - 2020-04-07 13:46:33
      Commented by :pbqlyMep

      viagra jokes for women how to purchase viagra viagra 100mg can heart bypass patients take viagra does viagra show up in probation urine test cheap viagra old man fucking with viagra viagra 100mg pfizer viagra pills for sale pfizer viagra coupons from pfizer https://viagrnetwork.com/# - online viagra https://kronikariza.com/viewtopic.php?f=87&t=395478&p=667088#p667088 https://deroundtable.com/james-brown-cries-out-i-cant-believe-my-auntie-bobrisky-blocked-me/?unapproved=9983&moderation-hash=7ba08ecb23dfb74a27d54675b95db516#comment-9983 https://chonpo.com/forums/topic/resume-filling-forms/ http://farandusalsa.com/2016/09/17/en-elcallao-develan-nuevo-busto-en-homenaje-a-hectorlavoe/?unapproved=442313&moderation-hash=677d700fbec1b817b514a987048e3420#comment-442313 https://solomidi.me/cranberries-empty/?unapproved=67051&moderation-hash=50653935d2ab8f9b15fecf1e6dd76e04#comment-67051


    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends