Headline



भारत छोड़कर बांग्लादेश लौटने वाले बांग्लादेशी घुसपैठियों की संख्या में इजाफा- BSF

Medhaj News 25 Jan 20 , 06:01:40 India
palayan.jpg

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) लागू होने के बाद से बांग्लादेशी घुसपैठियों के भारत छोड़ने की संख्या में भारी इजाफा हुआ है | शुक्रवार को बीएसएफ ने बताया कि पिछले एक महीने में भारत छोड़कर बांग्लादेश लौटने वाले बांग्लादेशी घुसपैठियों की संख्या में इजाफा हुआ है | बीएसएफ के इंस्पेक्टर जनरल (साउथ बंगाल फ्रंटियर) वाई. बी. खुरानिया ने बताया कि नागरिकता संशोधन अधिनियम के लागू होने के डर से बांग्लादेशी घुसपैठियों के देश छोड़कर भागने की संख्या बढ़ी है | हमने सिर्फ जनवरी में ही 268 बांग्लादेशी घुसपैठियों को पकड़ा है, जिनमें से ज्यादातर लोग पड़ोसी देश जाने की कोशिश कर रहे थे | बीएसएफ ने सीमा पार से घुसपैठ को रोकने के लिए लगातार पेट्रोलिंग करती रहती है | इसके साथ ही बीएसएफ पुराने कटीले तारों के बाड़ को हटाने और उनकी जगह मजबूत नई फेंसिंग लगा रही है | कई जगह पुरानी बाड़ को एंटी-कट फेंसिंग से रिप्लेस भी किया जा चुका है |





हालांकि इसके बावजूद सीमा पार से घुसपैठ नहीं रुक रही है | आपको बता दें कि मोदी सरकार ने पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में उत्पीड़न का शिकार हुए अल्पसंख्यकों यानी हिंदू, सिख, ईसाई, बौद्ध, जैन और पारसी समुदाय के लोगों को नागरिकता देने के लिए नागरिकता संशोधन अधिनियम बनाया है | इसको लेकर दिल्ली के शाहीन बाग समेत कई जगह विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है | इस मुद्दे पर कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दल भी मोदी सरकार के खिलाफ लामबंद हो गए हैं | इन सबके बावजूद मोदी सरकार झुकने को तैयार नहीं है | केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह सार्वजनिक मंच से कह चुके हैं कि सरकार किसी भी कीमत पर नागरिकता संशोधन अधिनियम को वापस नहीं लेगी | यह कानून पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में उत्पीड़न के शिकार अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने के लिए है | इसका हिंदुस्तान के मुसलमानों से कोई लेना-देना नहीं हैं | 


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends