Headline


5 हजार अरब डॉलर की इकोनॉमी पर पूर्व राष्ट्रपति का बयान- लक्ष्य पाना मुमकिन

Medhaj News 25 Aug 19 , 06:01:39 India
Dr._Pranab_Mukherjee.jpg

पूर्व राष्ट्रपति (Former Preseident) प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) ने कहा कि 2024-25 तक 5 हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था (Economy) बनने के सरकार (Government) के महत्वाकांक्षी लक्ष्य को दूरदर्शी आर्थिक प्रबंधन के माध्यम से हासिल किया जा सकता है | असोसिएशन ऑफ कॉर्पोरेट अडवाईजर्स ऐंड एग्जिक्युटिव्स (CIA) के आयोजित सत्र में उन्होंने कहा - अगर वित्त व्यवस्था का सही तरीके से और दूरदृष्टि के साथ प्रबंधन किया जाए तो 5 हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है | निवेश के बगैर अर्थव्यवस्था में वृद्धि नहीं होगी | वस्तु एवं सेवा कर (GST) के बारे में मुखर्जी ने कहा, जीएसटी लागू होने से कई कर खत्म हो गए | लेकिन इसमें सरकार की तरफ से अधिक स्पष्टता होनी चाहिए ताकि अनुपालन बेहतर हो सके |  बढ़ती कॉरपोरेट धोखाधड़ी पर चिंता जताते हुए उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में इस तरह के घोटाले काफी बढ़ गए हैं | सबसे पहले बजट में 5 ट्रिलियन इकॉनमी की बात हुई थी | इसके बाद पीएम मोदी ने भी वाराणसी में अपने भाषण के दौरान 5 ट्रिलियन इकॉनमी की बात कही थी | उन्होंने भरोसा जताया था कि भारत की इकॉनमी को 5 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचाना संभव है | बता दें कि अगर भारत यह लक्ष्य हासिल कर लेता है तो वह जर्मनी को पछाड़कर दुनिया की चौथी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा | 


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends