Headline



रक्षा मंत्री ने राफेल एयरक्राफ्ट की पूजा किए जाने पर छिड़े विवाद को लेकर जवाब दिया

Medhaj News 11 Oct 19 , 06:01:39 India
rajnath_singh_1.jpg

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह फ्रांस से पहला राफेल लड़ाकू विमान रिसीव करने बाद भारत वापस लौट आए हैं। उन्होंने वापस लौटते ही राफेल एयरक्राफ्ट की पूजा किए जाने पर छिड़े विवाद को लेकर जवाब दिया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा - सभी धर्मों के लोगों को अपनी आस्था के अनुसार प्रार्थना करने का अधिकार है। यदि किसी और ने ऐसा किया होता, तब मैं इस पर कोई आपत्ति नहीं करता। कांग्रेस के कुछ नेताओं की ओर से ऐतराज जताए को लेकर उन्होंने कहा -मैं मानता हूं कि कांग्रेस पार्टी में भी इस पर राय बंटी हुई होगी। जरूरी नहीं है कि हर किसी की यही राय हो। राजनाथ ने कहा कि राफेल को शामिल करने से वायुसेना की रक्षा और अटैक की ताकत में इजाफा होगा। इसके साथ ही राजनाथ सिंह ने राफेल से भारतीय वायुसेना को ताकत मिलने की बात करते हुए कहा कि यह 1800 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकता है।





उन्होंने कहा कि मैंने 1300 किमी प्रति घंटे की स्पीड से इसमें उड़ान भरी। राफेल जेट के भारत आने का पूरा श्रेय पीएम नरेंद्र मोदी को देते हुए उन्होंने कहा कि उनके नेतृत्व में ही यह संभव हो सका है। बता दें कि डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने पैरिस जाकर 36 राफेल लड़ाकू विमानों की खेप के तहत पहला विमान रिसीव किया था। एयरक्राफ्ट को रिसीव करने के बाद डिफेंस मिनिस्टर ने दशहरे के मौके पर शस्त्र पूजन की विधि करते हुए राफेल की भी पूजा की थी। राफेल पर ॐ लिखने, नारियल चढ़ाने और पहियों के नीचे नींबू रखे जाने की तमाम लोग निंदा कर रहे थे। यही नहीं कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और संदीप दीक्षित ने भी इस तरीके से एयरक्राफ्ट की पूजा किए जाने पर आपत्ति जताई थी।


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends